August 17, 2019

SEO Optimization हिंदी में - Why Is SEO Importan



कोई भी वेबसाइट इसलिए बनाई जाती है ताकि लोग उसे देखें पर website बनाना और लोगों का उसको देखना दोनों बहुत अलग बातें हैं, आजकल हम बिना coding के Free में वेबसाइट तो आसानी से बना सकते हैं. पर उसको visitors तक पहुँचाने में हमें बहुत मशक्कत करनी पडती है और इस काम को आसान बनाने के लिए हमें SEO (search engine optimization) करना पडता है. मैंने भी इस website को आप तक पहुँचाने के लिए SEO की techniques का इस्तेमाल किया है. एसईओ एक process है जिसका इस्तेमाल करके हम अपने website की organic ranking सर्च इंजन में बढा सकते हैं. SEO की मदद से हम Google के top results में आ सकते हैं। आज मैं आपको SEO optimization क्यों जरुरी है और SEO कैसे करें? के बारे में बताऊँगा।

Seo kya hai air seo optimization kaise karte hai?
SEO OPTIMIZATION IN HINDI


SEO क्यों जरुरी है-Why is SEO Important?


हम यह देखते हैं कि आमतौर पर जब हम कुछ सर्च करते हैं तो शायद ही हम दूसरे या तीसरे page पर visit करते हों | उसका यही कारण है कि हर कोई अपनी वेबसाइट को SEO अनुकूल बनाना पसंद करता है यह भी देखने में आया है कि अगर आप अपने keyword के साथ तीसरे सथान पर आ जाते हैं, तो आपके pageviews 20℅ तक बढ सकता है. वहीं दूसरे व पहले स्थान पर आने से आपके pageviews 30 और 40℅ तक बढ सकता है | सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) वेबसाइट ट्रैफिक की गुणवत्ता और मात्रा बढाने की प्रक्रिया है, किसी वेबसाइट या webpage की द्रश्यता को बढाकर एक वेब, search engine के उपयोगकर्ताओं के लिए SEO आर्टिकल्स के update परिणामों को दिखाता है | SEO यानि search engine optimization के द्वारा हम search engines जैसे Google, Bing, Yahoo को यह बताते हैं, कि हमारा जो Content है वो बाकि Releted Content से बेहतर है. सर्च इंजन हमेशा बेहतर परिणामों को पहले रैंक देता है और उनमें से श्रेष्ठ Results को सबसे ऊपर दिखाता है. एसईओ कई प्रकार के होते है जैसे - white hat seo, black hat seo. एसईओ इसलिए किया जाता है क्योंकि किसी वेबसाइट को search engine से अधिक visitor मिलेंगे, सर्च इंजन रिजल्ट पेज (SERP) में website की रैंकिंग बेहतर होगी.  90℅ से ज्यादा लोग जब Google जैसे Search engine पर कुछ Search करते हैं तो सिर्फ first page पर आयी हुई वेबसाइट को ही visit करते हैं. बहुत कम लोग ही second page तक जाते हैं | हमें एसईओ के निम्न फायदे होते हैं--


  • हमारी website पर organic traffic increase करने के लिए SEO जरुरी होता है |



  • SEO करके हम बिना paid promotion किए ही search engines में top पर आ सकते हैं |



SEO Optimization हिंदी में जानकारी


1.  कीवर्ड खोजें-Keyword Research:

SEO का सबसे महत्वपूर्ण व जरुरी पार्ट होता है keyword research करना. आप सबसे पहले अच्छा सा keyword research tool को चुन लें जिसके लिए सबसे बेहतर टूल Ahrefs है, जहां आप कुछ पैसे देकर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं | यहां आप अपने targeted keyword पर traffic report देख सकते हैं और पता लगा सकते हैं कि उस keyword पर rank करने वाले आर्टिकल्स को कहां-कहां से backlinks मिली है | keyword idea generate करते समय आपको अपनी वेबसाइट के Niche का ध्यान रखना होगा. Niche का मतलब है हमारी website की सर्विसेज से related टॉपिक | आप हमेशा long tail keywords का ही इस्तेमाल करें क्योंकि यह ज्यादा टाइम तक आपकी वेबसाइट पर pageviews लाते रहेंगे. इन keywords को सिलेक्ट करके search engine में top 3 position में रैंक करना आसान होता है |


2. डिस्क्रिप्शन लिखें-Write Description:

आपको अपने blog में और blog post में post से सम्बंधित short description select करना है ये सिर्फ 140 शब्दों में लिखना होता है. search engine इसे ही users को दिखाता है कि पोस्ट में क्या लिखा है और किसके बारे में है | यह सर्च इंजन में title व link के नीचे show होता है जिसे विजिटर आसानी से पढ सकते हैं | आपको description में अपना targeted keyword जरुर add करना है और यह SEO का ही एक भाग है | आप इसे अपने आर्टिकल का short review भी कह सकते हैं. अगर आपको कुछ भी नहीं सूझ रहा है, कि आप इसमें क्या लिखें तो आप इसे खाली भी छोड सकते हैं क्योंकि google जैसे बडे search engine ने description की अनिवार्यता SEO के लिए समाप्त कर दी है. यानि इसके ना होने से आपकी रैंकिंग पर कोई असर नहीं होगा पर अगर मेरी मानें तो आप इसे जरुर लिखें |


3. सभी पेज फुटर में लगाएँ-Make All Pages in Footer:

अपनी website या blog के सभी pages को वेबसाइट के footer में एड करें क्योंकि इनकी जरुरत बहुत कम विजिटर्स को होती है और google भी इनको footer में ही add करने की सलाह देता है क्योंकि यह हमेशा चाहते हैं कि विजिटर्स को सबसे अच्छे परिणाम के साथ-साथ अच्छी वेबसाइट भी दिखाए और इसमें इनका भी फायदा है कि जब लोग आपकी साइट पर आएँगे तो उनका भी फायदा होगा |

4. सिक्योरिटी बढाएँ-Http to Https:

http का मतलब होता है hyper text transfer protocole और https का मतसब होता है hyper text transfer protocole secure. https में website सेफ हो जाती है जिससे कोई भी आपकी साइट को हैक न कर सके. और इसका असर SEO पर भी पडता है, क्योंकि सर्च इंजन भी सिर्फ secured website को ही तरजीह देता है और https न होने पर आप अपना पूरा traffic खो सकते हैं. इसके लिए आप blogger पर coding के जरिए तथा wordpress पर SSL के जरिए https को लगा सकते हैं |


5. AMP थीम चुनें-Use AMP Theme:

amp का मतलब होता है accelarator mobile page. amp के इस्तेमाल से आपकी वेबसाइट की speed कई गुना तक बढ जाएगी और अब तो google भी amp वाली वेबसाइट को तरजीह देता है क्योंकि इसकी मदद से website. मोबाइल में बहुत fast load होगी | कुछ theme creators ने बहुत ही अच्छी-अच्छी themes भी amp में designe की हुई है जिनका इस्तेमाल आप free में कर सकते हैं |


6. वेबसाइट की स्पीड बढाएँ-Make Website Load Fast:

जैसा कि मैंने बताया कि सर्च इंजन fast load होने वाली वेबसाइटों को तरजीह देता है | आप amp themes इस्तेमाल करके भी website की स्पीड बढा सकते हैं. अगर आपकी site ब्लॉगर पर है तो आप अवांछित html/javascript को अपनी website के layout से हटा कर स्पीड बढा सकते हैं | हमें वेबसाइट की loading स्पीड 1 second से 3 second के बीच में रखनी चाहिए इससे ज्यादा होने पर आप 7℅ - 20℅ ट्रैफिक खो सकते हैं. और आप speed checker tools का उपयोग करके भी यह पता लगा सकते हैं कि कौनसे कारणों की वजह से आपकी website की speed पर असर पड रहा है और उनकी जाँच करके आप उनको set कर सकते हैं |


7. एरर पेज सेट करें-Set Error Page:

जब कोई post हम delete कर देते हैं, या उसका url बदल देते हैं तो वहां पर error आने लग जाता है जो SEO के लिए बहुत नुकसानदेह साबित हो सकता है | इसके लिए आपको सर्च इंजन के webmaster tool में जाकर इनका पता लगाना होगा और इन error pages को सही करना होगा क्योंकि इनही वजह से आपकी post search engine में show नहीं होगी और आपको 404 redirect page बनाना होगा और error pages set करके अपनी वेबसाइट का home url दे देना है जिससे वो सीधे home page पर redirect हो जाएँगे या आप चाहे तो अपने twiiter, facebook page, linkedin या किसी खास post का url भी दे सकते हैं जिससे विजिटर सीधे आपके social media पर रिडायरेक्ट हो जाएगा |


8. बाउंस बैक कम करें-Bounce Back:

bounce back यानि user का website में बिताया गया समय कितना है. विजिटर जितनी दैर तक आपकी website देखता है बाउंस बैक रेट उतना ही कम होता है और यह जितना कम होगा सर्च इंजन आपकी पोस्ट को उतनी ही तरजीह देगा. bounce back वेबसाइट की रैंकिंग पर बहुत बुरा प्रभाव डालता है bounce back जितना कम होगा आपका आर्टिकल उतना ही ऊपर rank करेगा. long article लिखकर आप विजिटर को ज्यादा time तक रोके रख सकते हैं | आप अपनी website की bounce rate check करके यह पता लगा सकते हैं कि आपका bounce back rate कितना है इसके लिए आप bounce rate checker free tools का उपयोग कर सकते हैं |


9. बैकलिंक लें-to take Backlinks:

जब किसी दूसरी या हमारी खुद की website पर हमारे किसी भी blog post की links होती है तो हम उसे backlink कहते हैं. इनसे जो traffic आता है वो organic traffic होता है | बैकलिंक हर वेबसाइट को रैंक करने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है हमारे किसी post की जितनी ज्यादा backlinks होंगी हमारे top पर रैंकिंग के भी उतने ही ज्यादा चाँस होंगे. पर हमें ज्यादा से ज्यादा high quality backlink बनाने पर ही ध्यान देना चाहिए क्योंकि low quality backlink से हमारी website पर SEO का गलत प्रभाव भी पड सकता है इसलिए आपको high DA (domain authority) और high PA (page authority) वाली वेबसाइट्स से ही बैकलिंक लेनी चाहिए |


10. हैडिंग इस्तेमाल करें-Use H1 & H2 Tags:

हमें अपने post में h1 और h2 हैडिंग्स का इस्तेमाल करना चाहिए इनके इस्तेमाल से search engine इन दोनों को कीवर्ड्स की श्रेणी रखकर परिणाम दिखाता है और जब कोई आपके h2 वाले keyword को खोजेगा तो परिणाम में आपका post दिखाई देगा. अगर आप wordpress user हैं तो आप h1, h2, h3, h4, h5, h6 में भी अपने targeted keywords का इस्तेमाल कर सकते हैं | साथ ही इससे आपका कीवर्ड highlight होगा जो विजिटर को एक नया अनुभव कराएगा |


Conclusion:

तो दोस्तों यह थे कुछ SEO की जानकारी जो मैंने आपको बताई आप इनका इस्तेमाल करके अपने post, product, services को इंटरनेट जगत में free में दिखा सकते हैं बिना किसी को पैसा दिए | अगर आपने इन सबका इस्तेमाल सही से किया तो आप बहुत जल्द google या other search engine में top पर रैंक कर सकते हैं | और अगर आपको भी website बनानी है या पैसे कमाने या फिर SEO सीखना है, तो आप हमारी वेबसाइट को विजिट करते रहिए हम आपके लिए कुछ नया लाते रहेंगे और article पसंद आया हो तो अपने सभी दोस्तों के साथ, रिश्तेदारों के साथ, सभी के साथ share कीजिए क्योंकि sharing is caring.

0 COMMENT ::

Your Comment Was Published After Approval!